महात्मा ज्योतिबा फुले को शेखावाटी में पहचान देने वाले प्रथम व्यक्ति का परिचय

महात्मा ज्योतिबा फुले को शेखावाटी में पहचान देने वाले प्रथम व्यक्ति का परिचय

स्व. श्री चन्द्रदत सैनिक का जीवन परिचय प्रख्यात शिक्षाविद व समाज सेवी एवं फूले दर्पण के प्रधान सम्पादक चन्द्रदत सैनिक ने अपने जीवन काल में सामाजिक क्रांति व दलित उत्थान के लिए अपना जीवन झौक दिया। इनका जन्म 28 दिसम्बर 1924 को झुंझुनूं की पवित्र सरजमीं पर माली समाज में हुआ। सन 1979 में शिक्षा अधिकारी प्रधानाचार्य के पद से सेवानिवृत्त हुयें। सन 1948 में महात्मा ज्योतिबा फूले के विचारों को उन्होंने समाज में उदगार किया और अंत समय तक महात्मा जी के विचारों व उनकी प्रेरणा पर चलने का मार्ग दर्शन देते रहे। सन 1992 में उन्होंने फूलें दर्पण मासिक पत्रिका का शुभारंभ किया। उसके जरिए समाज में उन्होंने महात्मा फुले व समाजिक चेतना, बदलाव का उल्लेख कर समाज को नई दिशा दिखाई। महात्मा ज्योतिबा फूले को शेखावाटी क्षैत्र में जन जन तक पहूचाने वालें प्रथम व्यक्ति थे। उस समय चन्द्रदत सैनिक ने महात्मा ज्योतिबा फूले के बारें में समाज को बताया। सैनिक तो नही रहे परन्तु बच्चे-बच्चे की जुबान पर महात्मा फुले का नाम छोड़ गये। चन्द्रदत सैनिक बहुजन समाज पार्टी के प्रथम जिलाध्यक्ष बनें और 15 वर्ष तक लगातार इस पद पर रहतें हुयें उन्होंने दलितों के शोषण के खिलाफ आवाज उठाई और दलितों को एक साथ जोडकर उन्होंने संघर्ष किया। एक जुलाई 2006 को उनका देहांत हो गया। उनकी कमी हमेशा खलती रहेगी परन्तु उनके विचारों पर समाज को अमल करना पडेगा।

Sunil Kumar Saini

Sunil Kumar Saini

Pakori dhani, Jhunjhunu, Jhunjhunu, Rajasthan

[ 384 Posts ]

Recent Comments