राजस्थान विद्या मंदिर बगड़ में महात्मा फुले की 131 वी पुण्यतिथि मनाई गई

राजस्थान विद्या मंदिर बगड़ में महात्मा फुले की 131 वी पुण्यतिथि मनाई गई

महात्मा फुले के विचारों को आत्मसात करना ही सच्ची श्रद्धांजलि होगी महात्मा फुले को भारत रत्न देने की मांग मुखरित हुई। महात्मा ज्योतिबा फुले की 131 वीं पुण्यतिथि समारोह पूर्वक मनाई गई। महात्मा फुले के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन और पुष्पांजलि के साथ राजस्थान विद्या मंदिर माध्यमिक विद्यालय में आयोजित पुष्पांजलि सभा के मुख्य अतिथि प्रधानाचार्य श्रीमती अनिता सैनी थी। अध्यक्षता विद्यालय निदेशक तथा महात्मा ज्योतिबा फुले विचार मंच के संरक्षक शिक्षाविद् श्री महेन्द्र शास्त्री ने की। प्रधानाध्यापक श्रीओमप्रकाश सैनी विशिष्ट अतिथि थे। मुख्य अतिथि ने अपने उदबोधन में कहा कि महात्मा फुले ने जीवन पर्यन्त दलितों,शोषितों तथा निराश्रितों के उद्धार के लिए कार्य किया। तत्कालीन भारतीय समाज में प्रचलित रूढियों तथा गलत परम्पराओं का जमकर विरोध किया। मंच के कोषाध्यक्ष श्रीराधेश्याम सैनी ने अतिथियों का स्वागत करते हुए फुले की जीवनी पर प्रकाश डाला। पुष्पांजलि सभा के बाद एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में बोलते हुए श्री महेन्द्र शास्त्री ने कहा कि फुले के विचार आज भी प्रासंगिक हैं।फुले ने विकट परिस्थितियों में शिक्षा की अलख जगाते हुए विशेष रूप से महिला शिक्षा के लिए अनेक विद्यालयों की स्थापना करके वंचित और शुद्र समाज को शिक्षा प्रदान करने का महत्वपूर्ण कार्य किया। विचार गोष्ठी में अध्यापिका श्रीमती चन्द्रिका, श्री दुर्गादत्त सैनी, श्रीओमप्रकाश चान्दोलिया,पूर्व पार्षद श्री महेश सैनी,नरेश सैनी,श्री कृष्ण सैनी,श्री महेन्द्र टेलर,श्री बुधराम सैनी,वीरू,शिवानी सैनी,श्री मनोज सैनी ने विचार व्यक्त किए। वक्ताओं ने महात्मा ज्योतिबा फुले को भारत रत्न देने की मांग अपने उद्बोधन में की। मीडिया प्रभारी नरेश अशोकनगर ने आभार और धन्यवाद ज्ञापित किया।

Sunil Kumar Saini

Sunil Kumar Saini

Pakori dhani, Jhunjhunu, Jhunjhunu, Rajasthan

[ 384 Posts ]

Recent Comments