शिक्षा समिति के प्रदेशाध्यक्ष बने श्री पुरूषोत्तम सैनी

 शिक्षा समिति के प्रदेशाध्यक्ष बने श्री पुरूषोत्तम सैनी

शिक्षा के साथ संस्कार भी जरूरी - श्री सैनी शिक्षा समिति के प्रदेशाध्यक्ष बने श्री पुरूषोत्तम सैनी इन्दौर । समय बड़ा तेजी से बदल रहा है। इसलिए आज के बदलते परिवेश में बच्चों को शिक्षा के साथ ही अच्छे संस्कार देने की भी जरूरत है। शिक्षा की चाबी से विकास के द्वार खुलते हैं । हमें शिक्षा की विकास का आधार बनाना होगा। यह बात वरिष्ठ समाज सेवी श्री पुरूषोत्तम सैनी (शीतल गजक) ने मां सावित्री देवी फूले के प्रदेशाध्यक्ष बनने पर हासामपुरा स्थित हनुमान मंदिर पर समाज के बीच कार्य करने वाले समाजबंधुओं के बीच में विचार मंथन के दौरान कहीं। उन्होंने कहाकि हमें यह भी ध्यान रखना होगा कि बच्चें पढ़ाई करने के लिए ही विद्यालय एवं कोचिंग संस्थानों में जाएं। आज के समय की बदलती हुई शिक्षा (पाश्चत्य संस्कृति ) को ग्रहण न करें। समाज में जब एक नई पौध तैयार हो रही है। इसका उदारण समाज की पढ़ी-लिखी बच्चियां है। ये बच्चियां जब बहू बनकर ससुराल में आई तो ज्यादा ध्यान दिया । समाज की यह नई पौध आने वाले समय में समाज को विकास के पथ पर आगे ले जाएगी। उन्होंने कहा कि समाज के बच्चे जब उच्चें शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढेगे तो समाज प्रगति, उन्नति तो करेगा ही, सामाजिक विकास के द्वार भी खुलेगे। श्री सैनी ने कहाकि हमारे समाज में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। हम सभी को मिलकर प्रतिभाओं को तराशने की पहल करनी होगी । समाज में आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे लाने के लिए हमें उनकी मदद भी करनी चाहिए। समाज के आर्थिक रूप से कमजोर बच्चें जब शिक्षित होकर आगे बढेगे तो हमारे समाज का भी उत्थान होगा। वरिष्ठ समाजसेवी श्री मोहन पटेल ने कहाकि कमजोर बच्चों की मदद के लिए हम सभी को सामूहिक रूप से पहल करनी होगी। इसके लिए हमे एक शिक्षा कोष बनाना होगा। इस कोष के माध्यम से कमजोर बच्चों की मदद के लिए हम सभी को आगे आना होगा । अन्य समाज बंधुओं ने भी शिक्षा कोष को उचित बताते हुए इसके लिए समिति का गठन करने की बात भी कहीं। जिसे सर्वानुमति से मां सावित्रीदेवी फूले शिक्षा समिति बनाई गई जो मध्यप्रदेश के माली सैनी समाज के कमजोर प्रतिभावन बच्चों की हर संभव मदद करे, इसके लिए समाजसेवी श्री पुरूषोत्तमजी सैनी को समिति का प्रदेश अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव समाज सेवी श्री मोहन पटेल ने रखा जिसे सभी ने स्वीकृति प्रदान कर श्री सैनी को अध्यक्ष बनाया गया। श्री सैनी लम्बे समय से समाज के कमजोर बच्चों की आर्थिक मदद करते आ रहे है, इसलिए यह दायित्व इन्हें दिया गया। श्री सैनी के नेतृत्व में प्रत्येक तहसील स्तर पर समाज की प्रतिभाओं को सम्मानित करने व आर्थिक रूप से कमजोर प्रतिभाओं को सहयोग प्रदान किया जायेगा। इस अवसर पर शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले श्री राजू सैनी चाणक्य कोचिंग सेन्टर का सांफा बांधकर पुष्पमालाओं से स्वागत कर स्मृत्ति चिन्ह भेंट किया। अपने स्वागत के दौरान श्री राजू सैनी ने कहाकि वे कई वर्षो से बच्चों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कोचिंग दे रहे है। उनकी कोचिंग से निकलकर आज सैकड़ों बच्चे देश में विभिन्न संस्थानों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। शिक्षा के क्षेत्र में कमजोर बच्चों की मदद के लिए वे हर संभव सहयोग करने को तत्पर है। सत्यनारायण कछावा माली मंथन पत्रिका ने भी शिक्षा रूपी इस पहल को समय की आवश्यकता बताते हुए कहाकि आॢथक रूप से कमजोर होने के कारण कई प्रतिभाएं बीच में ही पढ़ाई छोड़ देती है। इसलिए हमें एक जागरूकता लाने के साथ ही बच्चों की शिक्षा में यथा संभव मदद करना चाहिए। जो पढ़ाई छोड़ देती है। इसलिए हम सभी को एक सार्थक पहल करते हुए समाज में जागरूकता लाने के साथ ही बच्चों को शिक्षा के क्षेत्र में यथासंभव सहयोग करना चाहिए। इस अवसर पर सर्वश्री बाबुलाल सैनी, भेरूलाल सैनी, यादव प्रसाद बनासिया, संतोष सैनी, राजेन्द्र सैनी, सतीश सैनी, अशोक सैनी, जगदीश जारवाल, दिनेश गेहलोत, राजू गढ़वाल, सुनील पंवार, रमेशचन्द्र सैनी आदि विशेष रूप से उपस्थित थे। अंत में सभी ने स्नेह भोज किया।

Bihari Lal Saini

Bihari Lal Saini

Gayatri Vihar Nasrullaganj Sehore Mp, Nasrullaganj, Sehore, Madhya Pradesh

[ 906 Posts ]

Recent Comments