माली समाज सेवा संस्थान गुडामालानी के सारथी योजना के तहत भामाशाह बने परमार

माली समाज सेवा संस्थान गुडामालानी के सारथी योजना के तहत भामाशाह बने परमार

जय श्री संत शिरोमणि लिखमीदास जी महाराज की जय महात्मा ज्योतिबा फुले की जय समस्त माली समाज सेवा संस्थान गुडामालानी समाज बंधु गणों एवं आदरणीय सभी महानुभावों का सहयोग उसके लिए बहुत-बहुत धन्यवाद सभी भामाशाओं का तहे दिल से बहुत-बहुत धन्यवाद आभार अभिनंदन एवं आजीवन सदस्य बने उनको भी बहुत-बहुत धन्यवाद )भामाशाह सारथी योजना के तहत भामाशाह बनने के लिए शुरूआती राशी 11000 अगयारह हजार तय की हुई है अत सभी समाज बंधुऔ से नम्र निवेदन है कि समाज सेवा के लिए आपका हर धन का अंशदान करोड़ो समान है श्रीमान हस्तीमलजीS O अमरारामजी परमार गांव सिनघासवा चौहान की तरफ से 31111 रू की घोषणा की गई उनकोबहुत-बहुत धन्यवाद तहे दिल से हार्दिक आभार हसतिमल परमार सारथी योजना में राशि देने की घोषणा की उनको भी बहुत-बहुत धन्यवाद अध्यक्ष हीरालाल परमार एवं समस्त माली समाज सेवा संस्थान गुडामालानी कार्यकारिणी कमेटीi

Heeralal Mali

Heeralal Mali

Riddhi Siddhi Telicom, Sindhasawa Chouhan Gudamalani, Barmer, Rajasthan

[ 41 Posts ]

Recent Comments