गांव छापोली झुंझुनू से तीसरी बार सरपंच बन कर समाज का नाम रोशन करने वाली दबंग महिला श्रीमती कमला सैनी

गांव छापोली झुंझुनू से तीसरी बार सरपंच बन कर समाज का नाम रोशन करने वाली दबंग महिला श्रीमती कमला सैनी

🌹 बुद्धि,कर्म,साहस तथा राजनैतिक सूझ बूझ से परिपूर्ण व्यक्तित्व की धनी🌹 🪴 पूज्या श्रीमती कमला सैनी,सरपंच छापोली एवं पूज्य श्री श्रवण जी सैनी,निजी सहायक,अतिरिक्त जिला कलेक्टर,झुंझुनूं,निवासी-छापोली, उदयपुरवाटी🪴 👉जिले की सबसे बङी ग्राम पंचायतों में है-छापोली 🌷 सपने तो देखता है हर कोई लेकिन इन्हें सच्च कर पाता है कोई-कोई मंजिले तो सभी का इंतजार करती हैं मंजिलों पर पहुंच पाती है आप जैसी कोई कोई।🌷 💐वैयक्तिक सफलताओं के लिए उद्धात दृष्टिकोण का रखना अपेक्षित है। मानव जीवन की समस्याओं पर जो समग्र रूप से विचार कर सके, स्थिति के अनुसार अपने कर्त्तव्य व दायित्व का निर्वहन कर सके,वही वास्तविक जन प्रतिनिधि है। ऐसी ही विशाल ह्रदय से परिपूर्ण और देवी स्वरूपा हैं-छापोली ग्राम पंचायत की माननीया सरपंच साहिबा पूज्या श्रीमती कमला सैनी। व्यक्ति गुणों व कर्म से ही श्रेष्ठ बन सकता है। इसी सोच को मध्यनजर रखने वाली , बड़ी उत्साही, उदात्त आदर्श की प्रतीक, ग्राम पंचायत का कुशलता से संचालन करने में दक्ष, उत्कृष्ट जीवनशैली, प्रभावशाली व्यक्तित्व,अपने आत्मिक तेज से तेजस्वी, युवा वर्ग को नई जीवन दिशा देने वाली, बाधाओं की तनिक भी परवाह नहीं करने वाली, स्फटिक जैसी निर्मल, गाय जैसी सरल, सिंह जैसी शूर,उदारता जिनकी रग रग में रची बसी है,एक आदर्शवादी और राजनीतिक सन्यासी, भाषण, लेखन कला,तथा रचनात्मक कार्यों द्वारा जनजीवन में नवजागरण की क्रांति फैलाने वाली पूज्या श्रीमती कमला सैनी का जन्म सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक आदरणीय श्री प्रभुदयाल जी सैनी व करूणामयी मातुश्री आदरणीया श्रीमती बिदामी देवी की कोख से अरावली की तलहटी में बसे एक छोटे से गांव चला में हुआ। आपका परिवार आर्थिक रूप से सम्पन्न तथा प्रतिष्ठित परिवार है। माता-पिता के लाङ दुलार में पली बढी आप भारतीय सभ्यता व संस्कृति की पोषक तथा सांस्कृतिक मूल्यों पिरोकर रखने वाली नारी हैं। आपने माध्यमिक शिक्षा आपने अपने गांव चला से तथा उच्च माध्यमिक शिक्षा ससुराल आने के बाद स्वयंपाठी परीक्षार्थी के रूप में ही ग्रहण की। 💐 पूज्या श्रीमती कमला सैनी 1984 में बड़े सुशील, योग्य,मिलनसार,हसमुखएवं दक्ष पति के रूप में आदरणीय श्री श्रवण जी सैनी,निवासी छापोली के साथ परिणय सूत्र रूपी पवित्र बन्धन में बंधी। हालांकि आपका विवाह छोटी उम्र में ही हुआ लेकिन आपकी सोच जीवन में कुछ विशेष करने की थी। झुंझुनू जिले की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत छापोली की आप सन् 2000 में प्रथम बार सरपंच निर्वाचित हुई। आपके प्रथम सरपंच कार्यकाल में राजस्थान की पहली ग्राम छापोली बनी जहां 24 घंटे बिजली ग्राम पंचायत वासियों को मिलनी प्रारंभ हुई। इसी कार्यकाल में तीन स्कूल खुलवाने का गौरव भी आपको प्राप्त है। इतना ही नहीं 10 आंगनबाड़ी केंद्र भी आपके द्वारा शुरू करवाए गए। विशेष रूप से 3 किलोमीटर पहाड़ को काटकर कदंब कुंड के लिए शानदार मार्ग का निर्माण आपके कार्यकाल में करवाया। जो एक महत्वपूर्ण उपलब्धि कही जा सकती है।पानी, बिजली और शिक्षा सहित आपने विकास के नित नए आयाम स्थापित किए हैं। अकाल राहत कार्यक्रम के अन्तर्गत अनेक अविस्मरणीय कार्य आपने 2005 तक अपने प्रथम कार्यकाल में कर दिखाए। 💐 2010 में पूज्या श्रीमती कमला सैनी पुनः दूसरी बार भारी बहुमत से छापोली ग्राम पंचायत की सरपंच निर्वाचित हुई। दूसरे कार्यकाल में आप द्वारा एक बहुत बड़े भव्य खेल स्टेडियम का निर्माण कराया गया। जिसकी लागत करोड़ों में आई थी। विद्यालय चारदीवारी सहित अनेक रचनात्मक कार्य कर जनता का विश्वास प्राप्त किया।जैसा आप जानते हैं कि छापोली ग्राम पंचायत 52000 बीघा में फैली हुई एक विस्तृत तथा छितरी ग्राम पंचायत है। जहां 10000 मतदाता निवास करते जो छोटी छोटी ढाणियों तथा पहाङी ढालों व तलहटी में आबाद हैं। रास्ते बङे दुर्गम तथा उबङ खाबङ हैं। ढाणियों की छितरी हुई आबादी तक पहुंचना मात्र भी कितना जटिल और दुरूह काम होता है। आपने इस क्षेत्र को बहुत अच्छे से संभाला और ढाणियों में सड़कों का जाल बिछाया। पानी की समुचित व्यवस्था कराई तथा आमजन के दुःख-दर्द में भागीदार बनी। लगातार जन सेवा में भागीदारी निभाते हुए ग्राम पंचायत को श्रेष्ठ ग्राम पंचायतों में स्थान दिलाने में कोई कोर-कसर नहीं छोङी। इस प्रकार आपका दूसरा कार्यकाल भी बड़ा अविस्मरणीय और यादगार रहा है। 💐 आदरणीया श्रीमती कमला सैनी 2020 में संपन्न हुए ग्राम पंचायत चुनाव में तीसरी बार छापोली ग्राम पंचायत की सरपंच निर्वाचित होकर समाज का नाम गौरवान्वित किया है। तीसरे चरण में ग्राम पंचायत के विकास के लिए आप अनवरत रूप से क्रियाशील हैं। यह चुनाव आपके लिए बहुत ही प्रतिष्ठा और समाज के लिए मान सम्मान का चुनाव था। उदयपुरवाटी के वर्तमान विधायक के खिलाफ आपने यह चुनाव लड़ा है।आपके प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार को 15 लाख के लगभग आर्थिक सहयोग के रूप में विधायक महोदय द्वारा सहयोग दिया गया तथा अपने उम्मीदवार के पक्ष में प्रचार प्रसार भी किया गया। साथ ही आपके प्रतिद्वन्द्वी उम्मीदवार के समाज के लोगों ने भी लगभग 35 लाख रुपए का आर्थिक सहयोग प्रदान किया। लेकिन विगत 2 चरणों मे श्रीमती कमला जी सैनी के द्वारा करवाए गए सराहनीय कामों तथा आपका मृदुल व्यवहार कुशलता के बलबूते, जनता जनार्दन के भरोसे पर आप विगत दो कार्यकाल में खरा उतरने के बदौलत तीसरी बार सरपंच निर्वाचित हुई हैं। तीनों बार सरपंच निर्वाचित होने मे आपके पति देव आदरणीय श्री श्रवण जी सैनी का अहम् योगदान रहा है। आप इस वैश्विक महामारी कोरोना काल में अपनी पंचायत के अभावग्रस्त और जरूरतमंद लोगों के लिए मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए कृत संकल्पित हैं।अभी हाल ही में ग्राम पंचायत छापोली में दो सगे भाइयों की कोरोना से मृत्यु हो जाने के कारण आपने ₹151000 का सहयोग आपकी निजी आय से किया है। आपके सकारात्मक प्रयासों से गठित महात्मा फुले संस्थान द्वारा ₹51000 का सहयोग आपके द्वारा मृतक परिवार को दिलाया दिलवाया गया है। इस परिवार के लिए आपके दामाद ने भी ₹21000 का आर्थिक संबल प्रदान किया है। इस प्रकार आपका ग्राम पंचायत के आम जन के प्रति रवैया सकारात्मक सोच से लवरेज है। छत्तीस कौम आपके साथ सदैव मजबूती के साथ खङी मिलती हैं। आपके जेष्ठ भ्राता आदरणीय डॉक्टर जगदीश जी सैनी एसएमएस अस्पताल,जयपुर में प्राचार्य हैं तथा अनुज भ्राता आदरणीय डाॅ.मनोज जी सैनी बड़े सर्जन है, जो उदयपुरवाटी में पद स्थापित है। आपकी भाभी जी डॉक्टर श्रीमती सुमन सैनी आयुर्वेदिक चिकित्सक हैं। वो भी सीकर के पास ही राज्यसेवा में अपनी सेवायें दे रही हैं। इस प्रकार पूज्या श्रीमती कमला जी सैनी का परिवार चिकित्सा के क्षेत्र में बेहतरीन सेवायें प्रदान कर रहा है। आपने राजनीति के क्षेत्र में प्रवेश करते ही अपनी सूझबूझ,प्रतिभा और विराट व्यक्तित्व के बल पर अशातीत कार्य कर दिखाये हैं। आपके हाथ में जन नेतृत्व सौंपने की अन्तर्भूमिका बड़ी कुशलता से आप निभा रही हैं। जीवन का प्रत्येक दिन लोकहित के लिए आप अर्पित कर रही हैं। आपके द्वारा किए गए सद्कार्यों की मुक्त कंठ से मैं सराहना तथा भूरी भूरी प्रशंसा करता हूँ। एक विचारशील माली समाज की अनमोल रत्न,अपनी प्रतिभा रूपी सुरभि से लगातार अखिल समाज को महकाती रहें। एक कर्मठ, कर्तव्यनिष्ठ, धर्मपरायण,संघर्षशील, संजीदा तथा सरल स्वभाव की नेत्री आदरणीया श्रीमती कमला जी सैनी के लिए उज्जवल और उन्नत भविष्य की कामना करते हुए अनुपम झरने की तरह निरन्तर प्रवाहमान रहकर अपने राजनीतिक प्रयासों को शिखर तक ले जाने की अपेक्षा सरपंच साहिबा से रखता हूँ। 🙏बेदाग छवि तथा उत्कृष्ट व्यक्तित्व के धनी आदरणीय श्री श्रवण जी सैनी,छापोली🙏 🌷 जिसकी सोच में आत्मविश्वास की महक है जिसके इरादों में हौसलों की मिठास है और जिसकी नियत में सच्चाई का स्वाद है उसकी पूरी जिंदगी महकता हुआ गुलाब है। 💐 गरीबी से उत्पन्न कठिनाइयां मनस्वी व्यक्ति को सतर्क, कर्मठ और सद्गुणी भी बनाती हैं। लोकसेवा में अपना जीवन उत्सर्ग करने वाले, सच्चाई आपकी दृष्टि में सबसे अहम् विषय है। जन-जन में असीम आस्था और श्रद्धा के प्रेरणा स्रोत, मातृ- पितृ भक्त, भारतीय ज्ञान विज्ञान के मर्मज्ञ, वाक् शक्ति में प्रवीण, विद्या और गुणों के भंडार, आपके व्यक्तिगत जीवन में सरसता, सहानुभूति, आत्मिक सौंदर्य, हर्ष ,उल्लास और अपार आनंद की अनुभूति स्पष्ट परिलक्षित होती है। सादगी, संतोष, सेवा, सौहार्द्र, संयम ,समय पालन, स्वावलंबन और सत्यवादिता जैसे मानवीय मूल्यों को जीवन में पिरोकर रखने वाले आदरणीय श्री श्रवण जी सैनी का जन्म उदयपुरवाटी पंचायत समिति के छापोली गांव में पूज्य पिताश्री आदरणीय श्री शम्भूदयाल जी सैनी तथा प्रातःस्मरणीय मातुश्री आदरणीया श्रीमती मैदीदेवी की पवित्र कुक्षि से 1968 में हुआ। बाल्यकाल से ही शिक्षा के प्रति ललक तथा सहपाठियों के साथ बङे मधुर सम्बन्ध आप रखते थे। जीवन में कुछ कर गुजरने की भावना आपमें तरूणावस्था में ही परिलक्षित हो चली थी।सीकर कल्याण काॅलेज से एम काॅम करने के बाद वकालात की डिग्री आपने प्राप्त की। जैसा ऊपर कहा जा चुका है आपका विवाह छोटी उम्र में 1984 में श्रीमती कमला जी सैनी के साथ हुआ। उस समय आप माध्यमिक कक्षा में अध्ययनरत थे। जुलाई 1991 को सेशन कोर्ट में शीघ्र लिपिक के पद पर श्रीगंगानगर में राजकीय सेवा में पदार्पण किया। तत्पश्चात 2 सितम्बर 1996 को स्थानांतरित होकर निजी सहायक सेशन कोर्ट,झुंझुनूं में पधारे। तत्पश्चात मई 1997 से लगातार कलेक्ट्रेट,झुंझुनूं में निजी सहायक के पद पर कार्यरत हैं। वर्तमान में आप अतिरिक्त जिला कलेक्टर के निजि सहायक के पद पर बखूबी अपनी सेवायें प्रदान रहे हैं। आपकी उत्कृष्ट और बेहतरीन सेवाओं के लिए जिला कलेक्टर, संभागीय आयुक्त तथा अनेक बार गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आपको सम्मानित किया जा चुका है। आप बैडमिंटन के बहुत उच्च कोटि के खिलाड़ी हैं। विभागीय खेलकूद प्रतियोगिता में 10 वर्ष से लगातार बैडमिंटन में आप विजयश्री प्राप्त कर पुरस्कार प्राप्त कर रहे हैं। इस प्रकार खेल, नौकरी, तथा राजनीति और इसके अतिरिक्त समाज सेवा में भी आप लगातार सक्रिय रूप से अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे हैं। आपके बड़े भाई साहब आदरणीय श्री जगदीप जी सैनी ,गहलोत मोटर्स में मैनेजर हैं। दूसरे भ्राता आदरणीय श्री रामलालजी सैनी हैं जो ग्राम पंचायत के कार्यों में आदरणीया श्रीमती कमला जी सैनी का सहयोग करते हैं। अनुज भ्राता आदरणीय श्री मुकेश जी सैनी, गहलोत मोटर्स में कार्य कर रहे हैं। आपका परिवार पूर्णरूपेण से संयुक्त परिवार है। सभी मिलजुल कर बड़े प्रेम और स्नेह से एक रसोई में बना भोजन ग्रहण करते हैं। आपस में सभी भाइयों में और बच्चों में स्नेह और अपनत्व का भाव कूट-कूट कर भरा है। वर्तमान समय में चुनिन्दा परिवार ही संयुक्त रूप से देखने को मिलते हैं। आपकी बेटी श्रीमती ज्योति सैनी जो स्कूल व्याख्याता हैं। आपके दामाद आदरणीय श्री राकेश जी सैनी जो आयुर्वेदिक चिकित्सक है। आप की दूसरी बेटी सुश्री ॠतु सैनी आईआईटियन है। जो इस समय पीसीएस गुरूग्राम में सेवारत हैं। जहां पुरुष प्रधान समाज में पुत्र को महत्व दिया जाता है। आपके मात्र दो पुत्रियां हैं आपने ऐसा उदाहरण समाज के सामने प्रस्तुत किया है कि बेटा और बेटी समान होते हैं। उनमें किसी प्रकार का अंतर नहीं किया जाना चाहिए। इसी प्रकार संयुक्त परिवार भी इस बात का द्योतक है कि यदि हम संयुक्त रूप से रहते हैं तो परिवार समग्र रूप से आगे बढ़ता है। समाज के अन्य परिवारों को ऐसे संयुक्त परिवार से प्रेरणा लेकर उसका अनुगमन करना चाहिए। 💐 आदरणीय श्री श्रवण जी सैनी भारतीय जीवन शैली के श्रेष्ठतम उपासक, पारिवारिक, सामाजिक व राष्ट्रीय कर्तव्य के संवाहक, बुद्धिमता के धनी, स्वच्छ छवि के व्यक्तित्व, बड़े परोपकारी, विलक्षण कर्मयोगी, कर्तव्य की गरिमा को समझने वाले, अतुलनीय ऊर्जा से परिपूर्ण, नैतिक व सामाजिक मानकों पर खरे उतरने वाले, विकास पथ के दिशा वाहक तथा समाज के लिए एक उपयोगी नागरिक हैं। 🪴एक विशेष व्यवस्था सरपंच साहिबा द्वारा समस्त ग्राम पंचायत को उपलब्ध करा रखी है जिसके अन्तर्गत एक गाङी बीमार लोगों के लिए 24 घण्टे उपलब्ध रहती है। बीमार व्यक्ति को अस्पताल तक पहुंचाना तथा प्राथमिक उपचार के साथ रक्त आदि की व्यवस्था कराना आदि सेवा कार्य नि:शुल्क रूप से किए जाते हैं। ☘️समाज के नाम संदेश☘️ 💐जो मिले उसे प्राप्त करो और आगे के लिए संघर्ष जारी रखो। समाज को संगठित करने तथा भावात्मक एकता उत्पन्न करने के लिए समाज के प्रबुद्ध लोगों को आगे आकर निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए। ऐसी ही विभूतियों से समाज का मस्तक ऊंचा होता चला जाता है। जो समाज के लिए जीते मरते हैं अनुशासन, चारित्रिक दृढ़ता और प्रेम सचमुच ही प्रशंसनीय गुण हैं जो विषम और अप्रत्याशित संकट के समय भी, एक साथ मिलकर चले तो जरूर प्रत्येक काम में सफलता चरण चूमेगी। समाज के हित को सर्वोपरि तथा प्रथम स्थान दें।ऐसे विराट व्यक्तित्व की धनी पूज्या श्रीमती कमला जी सैनी तथा पूज्य श्री श्रवण जी सैनी का जीवन सदैव उन्नति पथ को आलोकित करते हुए समाज को गौरव प्रदान करता रहे। ऐसी प्रार्थना परम पिता परमेश्वर से करता हूँ। अन्त में दो पंक्तियों के साथ मेरी लेखनी को विराम देना चाहूंगा- 🌷 फर्क होता है अमीर और फकीर में फर्क होता है किस्मत और लकीर में अगर कुछ चाहो और ना मिले तो समझ लेना कुछ और अच्छा लिखा है तकदीर में।🌷 🙏जय फुले जय समाज।

Sunil Kumar Saini

Sunil Kumar Saini

Pakori dhani, Jhunjhunu, Jhunjhunu, Rajasthan

[ 328 Posts ]

Recent Comments