बेजुबानों की सेवा में लगा पूरा परिवार

बेजुबानों की सेवा में लगा पूरा परिवार

साक्षी वेलफेयर ट्रस्ट की राष्ट्रीय अध्यक्ष क्रांतिकारी शालू सैनी पूरे देश मे अपनी निस्वार्थ सेवा के लिए जानी जाती वही उनके बच्चे भी बन रहे नौजवान साथियो के लिए मिसाल बेजुबानों की सेवा कर नौजवानों के लिए बने प्रेरणाश्रोत कहते है बच्चे अपने बड़ो को देख कर सीखते है उन्हें वही करने की प्रेरणा मिलती है जो उनके अभिभावक करते है सबसे ज्यादा बच्चे मां से सीखते है इसका बेहतरीन उदाहरण है मुज्जफरनगर की प्रसिद्ध समाजसेवी साक्षी वेलफेयर ट्रस्ट की अध्यक्ष क्रांतिकारी शालू सैनी के दोनो बच्चे साक्षी सैनी व सुमित सैनी ..दोनों बच्चे आजकल क्रांतिकारी शालू सैनी के साथ मिलकर आसपास के आवारा कुत्ते उनके छोटे छोटे पिल्लै सड़को पर घूम रही बेजुबान गौ माता पक्षी व बंदरो की सेवा के लिए दिनरात एक कर रहे है उन्हें नहलाना दूध पिलाना रोटी बिस्किट ब्रेड चारा चने केले दाना पानी की व्यवस्था कर उनको खिलाते है और उनको नहलाना फिर उनका ट्रीटमेंट कराना ये उनकी दिनचर्या में शामिल है कोरोना महामारी में जब अपनो को अपने नही पूछ रहे है ऐसे में ये परिवार सेवा के नाम पर दिन रात एक किये हुआ है जैसे मानो सेवा कार्य इनकी दिनचर्या में शामिल है, जब कोरोना की इस भीषण आपदा में इंसान इंसान की सेवा नही कर पा रहे है ऐसे में इन युवा बच्चो के द्वारा जानवरो की सेवा किया जाना बेहद अनुकरणीय व खास है सुमित सैनी व साक्षी सैनी कहते है कि उन्हें ये सेवा भाव अपनी मां क्रांतिकारी शालू सैनी से सीखने को मिला है हमारी माँ हर पल कठिन परिस्थिति में भी जनसेवा के लिए तैयार रहती है और यही बात हम बच्चों के लिए प्रेरणा बन गयी है , इनके इस मानवता वादी भाव को देख के आसपास के लोग भी इनकी प्रसंशा करते है खास बातचीत में क्रांतिकारी शालू सैनी ने बताया की मैंने इन्हें बचपन से ही दया सद्भावना और इंसानियत की शिक्षा दी और बताया है कि हर जीव की सेवा पूण्य का कार्य है मेरी कामना है कि बच्चो के इस कार्य से और भी युवा बच्चे प्रेरणा ले और ये मुहिम खूब आगे बढ़े

 क्रांतिकारी शालू   सैनी

क्रांतिकारी शालू सैनी

208/7SOUTH KRISHNA PURI MZN, Muzaffarnagar, Muzaffarnagar, Uttar Pradesh

[ 74 Posts ]

Recent Comments